यूपी: मुख्यमंत्री योगी ने वितरित किए आयुष्मान कार्ड, जानें क्या कहा?

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थी योजना में इंपैनल्ड किसी अस्पताल में अपना उपचार करा सकता है। इस योजना से प्रदेश में छह करोड़ लोग प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हुए हैं। यह बात मुख्यमंत्री सोमवार को लोक भवन में मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के तहत अंत्योदय राशन कार्ड धारकों को आयुष्मान कार्ड के वितरण समारोह में कहीं। साथ ही कोविड प्रबंधन पर आईआईटी कानपुर से प्रकाशित पुस्तक का विमोचन किया। उन्होंने 15 लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड स्वयं दिए।

प्रदेश के हर जिले के ब्लॉक स्तर पर एक ही दिन में लगभग एक लाख पात्र लोगों को इस योजना के तहत आयुष्मान कार्ड का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 2011 की जनगणना के अनुसार एसईसीसी की सूची में कुछ परिवार इस योजना से वंचित रह गए थे। प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान से 8.45 लाख वंचित परिवारों के करीब 45 लाख व्यक्तियों को जोड़ा।

प्रदेश के 40 लाख से अधिक अन्त्योदय परिवार, जो आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से जुड़ने से रह गए थे, उन परिवारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान से जोड़ा गया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के सभी प्रवासी और निवासी श्रमिकों, जिनका रजिस्ट्रेशन श्रम विभाग में है, उनको दो लाख रुपये का सामाजिक सुरक्षा कवर और पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर दे रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इन सभी स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के प्रेरणास्रोत हैं।

इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग, नीति आयोग के सदस्य डॉ. विनोद पॉल, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एमएसएमई नवनीत सहगल, निदेशक आईआईटी कानपुर अभय करंदीकर, टीम-09 के सभी सदस्य, सूचना निदेशक शिशिर और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles