फर्जी दरोगा बनकर नौकरी दिलाने का झांसा दे महिला का किया शारीरिक शोषण

पुलिस में भर्ती कराने का झांसा देकर फर्जी दरोगा ने पहले महिला का शारीरिक शोषण किया उसके बाद डरा धमकाकर ब्लैक मेलिंग करने लगा! पीड़िता की मां ने इस संबंध में कोतवाली नगर में नामजद रिपोर्ट दर्ज करवाया तो पुलिस हरकत में आई! पुलिस ने मुख्य आरोपी सहित उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया है! मुख्य आरोपी के घर से पुलिस दरोगा की वर्दी बरामद की गई है जिसे पहनकर वह लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया करता था!


पीड़िता की मां की तहरीर पर कोतवाली नगर पुलिस ने 23 सितंबर को मुकदमा अपराध संख्या 642/2020 आईपीसी की धारा 363/366/120बी /376/386/506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया और आरोपियों की खोज करने लगी! अंतत: मुख्य आरोपी अरविंद गौतम पुत्र दयाराम निवासी बड़े गांव थाना इनायतनगर और उसके दो सहयोगी पुलिस के हत्थे चढ़े गए ! आरोपी के गिरफ्तार सहयोगियों में रामबचन कोली पुत्र भग्गू और राम सेवक पुत्र श्री राम शामिल हैं! मुखबिर खास की सूचना पर उपनिरीक्षक अमर कुमार चौरसिया ने हमराही के साथ सहादतगंज बाईपास के पास तीनों को गिरफ्तार कर लिया! वादिनी का कहना है कि फर्जी दरोगा बनकर पुलिस विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर उसकी पुत्री को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गए और मां को जान से मारने की धमकी देते हुए ₹8 हजार  की फिरौती मांगा! आदमी का यह भी कहना है कि उसकी पुत्री के साथ दुष्कर्म भी किया गया! पकड़े गए सहयोगी रामबरन कोरी ग्राम  गुडपुरवा थाना मवई और रामसेवक बिहारा थाना मवई का निवासी है! मुख्य आरोपी अरविंद गौतम के विरुद्ध थाना इनायतनगर में आईपीसी की विभिन्न धाराओं में पहले से तीन मुकदमे दर्ज हैं!


फर्जी दरोगा और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार करने वाले पुलिस बल में उपनिरीक्षक अमित सिंह, उप निरीक्षक अनिल कुमार, आरक्षी जितेंद्र बहादुर सरोज, आरक्षी धर्मेंद्र कुमार, सर्विलांस सेल के आरक्षी चंद्रभान यादव शामिल थे! वजह से पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने फर्जी दरोगा और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार करने वाले पुलिस दल को ₹20 हजार  पुरस्कार देने की घोषणा किया है!

Related Articles